Buy My Book

Monday, June 27, 2011

करेरी यात्रा का कुल खर्च: 4 दिन, 1247 रुपये

इस वृत्तान्त को पूरा और शुरू से पढने के लिये यहां क्लिक करें
मैं और गप्पू करेरी झील के लिये दिल्ली से 23 मई की सुबह शाने पंजाब एक्सप्रेस से निकले थे। गप्पू राजस्थान से आया था। उसका राजस्थान से दिल्ली आने-जाने का खर्चा इस लिस्ट में शामिल नहीं है। इसमें जो भी खर्चा दिखाया गया है, हमारा वास्तव में उतना ही खर्चा हुआ। इससे ज्यादा एक रुपया भी खर्च नहीं किया।
23 मई 2011
नई दिल्ली से अम्बाला (ट्रेन से)- 124 रुपये
ट्रेन में चाय- 20 रुपये
ट्रेन में भुनी दाल- 20 रुपये
अम्बाला स्टेशन पर नहाना- 10 रुपये
अम्बाला से चण्डीगढ (बस से)- 80 रुपये
सेक्टर 17 से सेक्टर 43 (बस से)- 20 रुपये
43 बस अड्डे पर चाऊमीन और कोल्ड ड्रिंक- 110 रुपये
चण्डीगढ से धर्मशाला (बस से)- 460 रुपये
रास्ते में कहीं पर चाय- 10 रुपये
23 मई का दो आदमियों का खर्च: 854 रुपये
एक आदमी का खर्च: 427 रुपये
रात नौ बजे हम धर्मशाला पहुंचे। दस बजे तक केवल राम के यहां। केवल राम धर्मशाला-पालमपुर रोड पर दाडी नामक कस्बे में रहते हैं। यह धर्मशाला बस अड्डे से तीन किलोमीटर दूर है।
24 मई 2011
दाडी में बिस्कुट- 25 रुपये
दाडी से धर्मशाला (बस से)- 6 रुपये
धर्मशाला से मैक्लोडगंज (बस से)- 20 रुपये
मैक्लोडगंज में चाय- 10 रुपये
मैक्लोडगंज में तरबूज (1 किलो)- 20 रुपये
मैक्लोडगंज में फिर चाय- 10 रुपये
मैक्लोडगंज में चाट- 20 रुपये
24 मई का दो आदमियों का खर्च: 111 रुपये
एक आदमी का खर्च: 56 रुपये
यहां से हमने पैदल यात्रा शुरू की। पहले नड्डी पहुंचे। फिर पैदल ही करेरी गांव। करेरी में रेस्ट हाउस बन्द पडा था इसलिये सतीश के घर में रात्रि शरण ली। अगले दिन झील के लिये रवाना हुए।
25 मई 2011
करेरी झील के रास्ते में 5 च्यूइंगम- 10 रुपये
25 मई का दो आदमियों का खर्च: 10 रुपये
एक आदमी का खर्च: 5 रुपये
सुबह सतीश के यहां से खाकर चले थे। पूरे दिन हमने कुछ नहीं खाया। वो तो अच्छा था कि दाडी में हमने जो बिस्कुट खरीदे थे, उन्हें हमने खाया नहीं था। वे अब काम आये थे।
26 मई 2011
करेरी गांव में किराया (रहना, खाना, स्लीपिंग बैग)- 400 रुपये
घेरा से धर्मशाला (ट्रक से)- 45 रुपये
धर्मशाला बस अड्डे पर नहाना- 15 रुपये
धर्मशाला बस अड्डे पर टोस्ट चाय आमलेट- 40 रुपये
बस अड्डे पर ही चाट- 20 रुपये
धर्मशाला से दिल्ली (डीलक्स बस से)- 868 रुपये
रास्ते में कहीं कोल्ड ड्रिंक डिनर- 70 रुपये
रास्ते में करनाल के पास बकवास परांठे- 60 रुपये
26 मई का दो आदमियों का खर्च: 1518 रुपये
एक आदमी का खर्च: 759 रुपये
कुल खर्च:
23 मई: 427 रुपये
24 मई: 56 रुपये
25 मई: 5 रुपये
26 मई: 759 रुपये
कुल खर्चा: 1247 रुपये
हम अपने साथ पांचवा दिन लेकर भी चले थे, लेकिन करेरी झील की यात्रा में हमें इतनी थकान हो गई कि धर्मशाला पहुंचते ही अपने आप दिल्ली का टिकट कट गया।


अगला भाग: करेरी यात्रा पर गप्पू और पाठकों के विचार


करेरी झील यात्रा
1. चल पडे करेरी की ओर
2. भागसू नाग और भागसू झरना, मैक्लोडगंज
3. करेरी यात्रा- मैक्लोडगंज से नड्डी और गतडी
4. करेरी यात्रा- गतडी से करेरी गांव
5. करेरी गांव से झील तक
6. करेरी झील के जानलेवा दर्शन
7. करेरी झील की परिक्रमा
8. करेरी झील से वापसी
9. करेरी यात्रा का कुल खर्च- 4 दिन, 1247 रुपये
10. करेरी यात्रा पर गप्पू और पाठकों के विचार

31 comments:

  1. वाह, पढ़कर आनन्द आ गया।

    ReplyDelete
  2. अरे कंजूसी दिखानी है तो चाय व कोल्ड ड्रिंक व कई अन्य से भी पैसे बचाये जा सकते है।
    बढिया रही कम खर्चा ज्यादा घूमना।

    ReplyDelete
  3. 300 रुपये प्रतिदिन रहना, खाना और किराया.. लोग कहते है कि महगाई है...

    ReplyDelete
  4. तन्नै तो भाई वित्तमंत्री होना चाहिये देस का:)

    ReplyDelete
    Replies
    1. bilkul theek kaha aap ne . ..... prithvi nath sharma punjab se

      Delete
  5. ये भी जरुरी बात है |
    बहुत-सुन्दर ||

    @ अरे कंजूसी दिखानी है तो चाय व कोल्ड ड्रिंक व कई अन्य से भी पैसे बचाये जा सकते है।
    बढिया रही कम खर्चा ज्यादा घूमना।

    उत्साहित करनेवाली सलाह |
    खर्च और कम |
    भाई जी घर का बना भी कुछ रखे थे क्या |

    ReplyDelete
  6. good example of money management.
    we should learn from this jaat
    OK BEST OF LUCK NEERAJ

    ReplyDelete
  7. 300 rs thode hai
    300 rs tin din ki kamai hai hamare desh me logo ki 3 din ki garibo ki aur ek anumaan ke aadhar par sarkar ke sarvey me yeh nikla tha ki hamre desh ki lagbhag aadhi se jyada aawam roj 25 se 30rs me jiwan yapan kar rahi hai aur aap kahte hai 300rs 1 din thode hai
    bahut sundar
    chhotawriters.blogspot.com

    ReplyDelete
  8. main bhi aap ke sath chal sakta hoon kya ?

    bhai neeraj jat!

    aap to bade kaam ke aadmi hain ji

    ReplyDelete
  9. भई तुमको तो ट्रेवलिंग के लिये सलाहकार होना चाहिये ।

    ReplyDelete
  10. 25 रुपये ज्यादा खर्च कर दिये जी
    अम्बाला में 10 रुपये और धर्मशाला में 15रुपये नहाने पर

    जै राम जी की

    ReplyDelete
  11. नीरज भाई नहाना और तुम समझ में नहीं आया इन दोनों में तो दूर -दूर तक कोई रिश्ता नहीं है २५ रुपये बचाए ज़ा सकते थे

    ReplyDelete
  12. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  13. itna sasta,gazab ki ghumakkadi hai.

    ReplyDelete
  14. सस्ते में झील घूम आये...मजा आ जाता है आपके विवरण पढ़कर.

    ReplyDelete
  15. कम खर्च बालानशीं इसे कहते हैं...

    नीरज

    ReplyDelete
  16. करनाल के पास बकवास परांठे- 60 :)
    ... मेरा भी यही अनुभव है कि हरियाणा में जहां कहीं भी रोडवेज़ की बस रूके कुछ नहीं लेना वर्ना माल बकवास तो होगा ही रेट भी तीन से चार गुणा कुछ भी हो सकता है.
    हरियाणा में एक ही गुर सबसे बढ़िया है कि अपना माल अपने साथ...

    ReplyDelete
  17. हा हा :) सही है भाई :)

    ReplyDelete
  18. नीरज जी राम राम अम्बाला से धर्मशाला -460 रुपया शायद गलत लिखा गया है कयोंकि आप चंडीगढ़ तो पहुँच ही गए थे

    ReplyDelete
  19. this is the real tourism ......sasta sundar tikau .......u can afford such tourism every month ...waah neeraj bhai ......aur ye sab likh ke aap logon ko educate bhi kar rahe hain ki saste mein bhu paryatan hota hai bhai .....v good ..keep it up ...
    regards
    ajit

    ReplyDelete
  20. neeraj ji ...aap dharmshala jaane ke liye seedhe jalandhar aaya karo .....wahan se dharmshala ki bus liya karo ....kisi din hum bhi latak lenge aapke saath ...dono miya beewi ....par pahle program bana k aana
    ajit

    ReplyDelete
  21. नीरज जी ...मेरा व्यक्तिगत अनुभव है ....घर से चलो तो घर के बने कुछ ऐसे snaks ले के चलो की बाज़ार का गंद न खाना पड़े ....जैसे maagi या समोसे ......बंगाली जब tourism पे निकलता है तो बोरा भर के मूडी ....लाइ ले के निकलता है .....दुनिया का सबसे अच्छा टूरिस्ट मैं बंगालियों को मानता हूँ ...वो आपसे भी आधे दाम में घूम के चले जाते ...बात यहाँ कंजूसी की नहीं quality और साफ़ सफाई ...सब की है ...पर ये मानना पड़ेगा ...आप सच्चे टूरिस्ट हो ....यही असली tourism है ...और मेरे पास एक कप है ......चाय उसमे एक घंटा गर्म रहती है ....उसमे चाय पीने का मज़ा ही अलग है ...और पहाड़ पे तो वो बहुत ही ज़रूरी है .......

    ajit

    ReplyDelete
  22. bahut badiya...
    मेरी नयी पोस्ट पर आपका स्वागत है : Blind Devotion - सम्पूर्ण प्रेम...(Complete Love)

    ReplyDelete
  23. I always enjoy your posts.....

    ReplyDelete
  24. prithvi nath sharma punjab se hun ,neeraj jaat ji , aap ki yeh yatra pad ker bahut maza aya ha subha se batha hun pehley haridwar rishikesh ,neelkanth ko pda ab himachal ko pad raha hun aap ki yatra or pics dekh ker toh esha hoti ha ma bi aap ke sath yatra karu, wow maza bahut aya ha, nepal ki yatra kal padi thi per us mein aap ne khaana bahut mehnga bata diya ha 190 rs ki ek chapati or 600 ki daal ki katori abhi koi nepal ghum ker aya ha us ne kaha ki galti se 0 lag gai hogi, nepal ghumne ki bahut isha ha per itna mahnga khanna dekh ker hi yatra ka vichar shod diya ha. varindavan ki yatra bi pad chuka hun, baki pad raha hun

    ReplyDelete
    Replies
    1. शर्मा जी, उस लेख को गौर से पढिये। मुझसे किसी और ने बताया था कि वहां इतना महंगा खाना मिलता है। लेकिन जब खुद गया तो असलियत पता चल गई। खाना उतना महंगा नहीं है।

      Delete