Buy My Book

Wednesday, November 10, 2010

पटनीटॉप में एक घण्टा

इस यात्रा वृत्तान्त को शुरू से पढने के लिये यहां क्लिक करें
अमरनाथ से लौटते हुए एक रात तो हमने गुजारी सोनमर्ग में, दूसरी रात गुजारी श्रीनगर में। सुबह उठकर श्रीनगर से चल पडे। नाश्ता भी नहीं किया था। नाश्ता व खाना एक साथ किया अनन्तनाग के पास आकर। फिर जवाहर सुरंग भी पार कर ली और कुछ देर में पहुंच गये पटनीटॉप।
पटनीटॉप जम्मू कश्मीर राज्य में जम्मू इलाके का एक प्रसिद्ध हिल स्टेशन है। यहां हमेशा पर्यटकों की भीड रहती है। ज्यादातर पर्यटक वैष्णों देवी के दर्शन करके यहां आते हैं। जब हम पटनीटॉप पहुंचे, मेरी आंख लगी हुई थी। यहां पहुंचकर सबने मुझे जगाया। बोले कि पटनीटॉप पहुंच गये।
हम पिछले लगभग दस दिनों से उच्च पहाडों में घूम रहे थे। पटनीटॉप पहुंचकर कुछ नया सा नहीं लगा। हां, अगर मैं सीधा दिल्ली से ही पटनीटॉप जा पहुंचता तो बहुत सुकून मिलता। अच्छा लगता। लेकिन अब वो बात नहीं रह गयी थी। यहां जाडों में बरफ भी पडती है। स्कीइंग भी होती है। गर्मियों में भी मौसम सुहावना बना रहता है। श्रीनगर से भी सुहावना।

SAM_1441
SAM_1442
SAM_1443
SAM_1445
SAM_1446
अमरनाथ यात्रा के मौसम में यहां अत्यधिक भीड हो जाती है। इसलिये गंदगी और प्लास्टिक भी बहुत बढ जाता है।

SAM_1447
SAM_1448
SAM_1454
SAM_1433
यह है पटनीटॉप से कुछ ही दूर बगलिहार बांध। यह चेनाब नदी पर बना है।

पटनीटॉप वैसे बुरी जगह नहीं है। किसी दिन फुर्सत से घूमकर आऊंगा। इस बार तो हबड-धबड में गये थे और चाय-पकौडी खाकर वापस चले आये। गये क्या, रास्ते में पडी, कुछ देर रुक गये।

अमरनाथ यात्रा समाप्त।


अमरनाथ यात्रा
1. अमरनाथ यात्रा
2. पहलगाम- अमरनाथ यात्रा का आधार स्थल
3. पहलगाम से पिस्सू घाटी
4. अमरनाथ यात्रा- पिस्सू घाटी से शेषनाग
5. शेषनाग झील
6. अमरनाथ यात्रा- महागुनस चोटी
7. पौषपत्री का शानदार भण्डारा
8. पंचतरणी- यात्रा की सुन्दरतम जगह
9. श्री अमरनाथ दर्शन
10. अमरनाथ से बालटाल
11. सोनामार्ग (सोनमर्ग) के नजारे
12. सोनमर्ग में खच्चरसवारी
13. सोनमर्ग से श्रीनगर तक
14. श्रीनगर में डल झील
15. पटनीटॉप में एक घण्टा

13 comments:

  1. Lage raho Neeraj Bhai,

    Aur Jai Badri Nath ki

    ReplyDelete
  2. वाह, पिछली बार जम्मू ये थे तो योजना बनी थी। इस बार क्रियान्वयन भी होगा।

    ReplyDelete
  3. किसी जगह को आपके कैमरे की आँख से देखना अलग ही मजा देता है।
    हमें तो पत्नीटॉप बढिया जगह लगी थी, कश्मीर नहीं देखा है ना इसलिये

    प्रणाम

    ReplyDelete
  4. पटनीटॉप, वह भी बिना पटनी आई मीन पत्‍नी के। ऐसा कब चलेगा? :)

    ReplyDelete
  5. पटनीटॉप, वह भी बिना पटनी आई मीन पत्‍नी के। ऐसा कब चलेगा? :)
    ---------
    ब्‍लॉगर पंच बताएं, विजेता किसे बनाएं।

    ReplyDelete
  6. अति सुन्दर चित्र ...चित्र वो कह देते हैं जो शब्द नहीं कह पाते ...

    ReplyDelete
  7. नीरज जी नमस्कार, पटनीटॉप वाकई मैं बहुत सुन्दर जगह हैं. मैं खुद यहाँ पांच बार हो कर आया हूँ. चित्र बहुत सुन्दर हैं . धन्यवाद ! घुम्मकरी जिंदाबाद !!!!!!!!!!

    ReplyDelete
  8. घुम्मकरी जिंदाबाद
    घुम्मकरी जिंदाबाद
    घुम्मकरी जिंदाबाद
    घुम्मकरी जिंदाबाद
    घुम्मकरी जिंदाबाद

    ReplyDelete
  9. अभी तक गए नहीं पतनी टाप, भीड़ कि वजह से अच्छी खासी जगह भी बेकार सी लगने लगती है...गन्दगी इतनी बढ़ जाती है के प्राकर्तिक सौंदर्य गौण हो जाता है...
    आपके चित्र बहुत मनभावन हैं...

    नीरज

    ReplyDelete
  10. स्वर्ग से भी ज्यादा खूबसुरत ये तस्वीर है ये कश्मीर है ये कश्मीर है।

    ReplyDelete
  11. bahut maza aaya aap ki yatara amaranathji ki padh ke or photo dekh ke bhi bahut maza aaya... aap ko bahut bahut dhayanawad.. ese sa-vistar yatara ka varanan dene ke liye... bahut maza aaya... aap ka aabhar...

    ReplyDelete
  12. आज ही अमरनाथ यात्रा का पूरा विवरण पढ़ा. बहुत ही शानदार नीरज भाई!

    ReplyDelete